Top Menu

Entrepreneur (उधमी) कैसे बने :-

hi  ..! दोस्तों आज मै आपको बताऊंगा की entrepreneur (उधमी) कैसे बने। इंटरप्रेन्योर का मतलब new age ceo जो अपने दम पे अपना खुद का business बनाते है जिसे hindi में उधमी कहते हैं । इन्हें स्टार्टअप भी कह सकते हैं । indian यूथ में बीते कुछ सालो में एक नया changes देखने को मिल रहा है बहुत से युवा अपने नौकरी को छोड़ के अपने खुद की कंपनी बना रहे है चाहे वो iit,आईआईएम या किसी बड़े college से पढाई किये हो या किसी मल्टीनेशनल कंपनी में अच्छे सैलरी पैकेज कम करतें हों उनमे एक नया ट्रेड देखने को मिला है ।वो अपनी अच्छी खासी सैलरी वाली job को छोड़ के रिस्क लेके अपना खुद का business करना चाहते हैं –   Amir बनने के लिए ek idea hi kafi hai yha click karen

entrepreneur business start money

इन सबमे सबसे पहले नाम flipkart,snapdeal , ,myntra, jobong, craftsvilla,olx  जैसे स्टार्टअप का है ये सभी online business की e commerce कंपनी हैं  और इन सब के फाउंडर कम age के होते हुए बहुत कम समय में बिलियन dollor के कंपनी के मालिक हो गये हैं ।इस लिए बहुत से युवा कम investment के बाद भी success हो रहे हैं ।  

मान लीजिये आप मुंबई में बैठे हैं और आपको मथुरा का लड्डू या चांदनी चौक के पराठे खाने का मन  कर रहा हैं और ये ख्वाइश आपकी कुछ घंटो में बिना घर से बाहर निकले पूरी हो जये तो आपको जरुर अच्छा लगेगा ।कुछ सालो पहले कोई ऐसी बात करता तो उसे बेवकूफ कहा जाता । लेकिन आज के समय में इन्टरनेट के बढ़ने से online होने से कुछ भी असम्भव नहीं है आज ऐसी बहुत सी कंपनिया आ गई हैं जो दुनिया की मशहूर चीजो को आपके घर पे पंहुचा रही हैं ।वो फेमस hotel के डिसेस या सिनेमा के ticket ,या आपकी पसंद की books हो आपके एक क्लिक करने से ये आपके पास होती हैं आज के ये छोटे कम age के युवा कुछ ही सालो में बड़े businessman को पीछे छोड़ दे रहे हैं।

कुछ नाम जिन्होंने नौकरी छोड़ के कंपनी शुरू की :

अब तक ग्लोबल level पे google , facebook , twitter, microsoft ,apple जैसे कंपनियों के ग्रोथ के चर्चे होते थे लेकिन कुछ ही समय में ये स्टार्टअप कमाई के मामले में इन सबको मात देते नजर आ रहे , जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था ,प्रसून गुप्ता ,मनीष गोएल नव अपने food business के लिए अपनी अच्छी सैलरी के job को छोड़ दिया , प्रसून गुप्ता ने delhi में सात्विको नाम से एक eating कांसेप्ट start किया जो कस्टमर को बिना लहसून प्याज के डिसेस देती है , Badal गोएल ने HRSH वेंचर के जरिये लोगो को healthy food फ्रेश सालाद ,हेल्थ जूस देती है इन् सभी लोगो की कंपनी 1-3 सालके अन्दर करोङो के business कर रही है ।

इन्टरनेट के आने से और online business के चलन से  लोग अपने छोटे छोटे idea से अपने business को start कर रहे जिससे आपके  क्लिक करने  से ही पैसो की बरसात हो रही ।

Entrepreneur  करने के लिए आपके अन्दर कौन कौन सी चीजे होनी चाहिए :-

  1. एक entrepreneur  (उधमी) बनने के लिए आपके अन्दर रिस्क लेने की कैपिसिटी होनी चाहिए ।
  2. entrepreneur (उधमी) के लिए आप को नौकरी छोडनी पड़ेगी क्यों की इसके लिए आपको अपने mind को पूरा कंसन्ट्रेट करना होगा।
  3. ये सोचिये की जब ये लोग छोटे idea को लगा के कंपनी बना सकते है तो आप क्यों नहीं ।
  4. अगर आप मेहनत नहीं करना चाहते है तो ये आपके लिए नहीं है ।
  5. हमेशा possitive थिंकिंग रखे ।(entrepreneurship ke bare me aur jane)
इंटरप्रेन्योरशिप क्या नहीं है :-
  1. इंटरप्रेन्योरशिप 10 se 5 की job नहीं है ।
  2. ये 24*7 की job है।
  3. सिर्फ नौकरीं करने का  मकसद रखने वाला इन्सान entrepreneur नहीं बन सकता , क्यों की इसमें जरा सी लापरवाही आपके business को ख़त्म कर सकती है ।
  4. इसमें सक्सेस बहुत मुश्किल से मेहनत करने वालो को ही मिलती है ।

लेकिन अगर आप एक बार सक्सेस हो गये तो फिर पीछे मुड़ के देखने की जरुरत नहीं ।

स्टार्टिंग में इसमें आपको मेहनत तो करनी ही पड़ेगी।

क्या क्या चैलेंजेज(चुनौती) हैं :-

  1. स्टार्टअप को लेकर आज भी समाज के लोगो में उतना craze नहीं है , क्यों की सबसे पहले तो आपकी family ही आपको support नहीं करती और आपको नौकरी करने की सलाह देती है ।
  2. यहाँ लोग doctor इंजिनियर अपने बच्चे को बनाने के लिए हमेशा कहते है लेकिन entrepreneur नहीं , जबकि ये नौकरी job से बहुत respectable और सम्मानित है ।
  3. बड़े शहरों में कुछ changing आई है ,लेकिन छोटे शहरो में अब भी लोग नौकरी के पीछे भागते हैं ।
  4. जब भी आप कुछ नया करना चाहते हैं तो लोग आपको बोलते हैं की ये idea सक्सेस नहीं होगा ,ये अरे मैंने बहुत से लोगो को फेल होते देखा है । (startup ke bare me aur jane)

जब हम जब करते हैं तो सिर्फ अपनी progress करते हैं , लेकिन जब कोई  entrepreneur  बनता है तो वो बहुत से लोगो के लिए job के आप्शन खोलता है  यानि वो दुसरो को भी job देता है ।”

(दोस्तों अगले पोस्ट में मै इससे related कुछ और बाते बताऊंगा )


क्या  ये कभी सच बोलते हैं –

मेहमान :- जी हाँ चाय पीकर आया हूँ

नेता :- मैं जनता का नौकर हूँ .

शराबी :-मै आज के  बाद कभी शराब नहीं पीऊंगा.

ग्वाला :- मै  दूध में पानी नहीं मिलाता .

वकील :-मेरा मुवक्किल  बेकसूर है .


 


आपको ये पोस्ट अच्छी लगे तो कमेंट और शेयर जरुर करें ….

About The Author

Hello, I am Amit .i am hindi blogger.Myhelpblog.com website pe aap wordpress blog ,computer,online business,internet,inspirational story ki knowledge apko milegi.

3 Comments

  1. Mr. Harun ,bina internal link diye bina aap seo soch bhi nhi sakte,isliye internal link important hota hai blog ke liye…….aap bhi eska use kare harun Ji aapka bhi traffic badega 🙂

  2. Apne post to achha likha hai lekin isme itne saaare link ye accha nhi hai . me ap se gujaris karunga ki isme ae link hata de .

    Aur aap ko faida bhi hoga .
    Apki site ki traffic bhi badegi..
    Aur seo friendly bhi hogi…
    ASA hai aap is par jarur kaam karenge ..
    Me apka visitor.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Close